गुरुवार, 11 जून 2020

Stock exchange kya hai? स्टॉक एक्सचेंज क्या है? ये कैसे कार्य करता है? इसकी qulity रेपुटेशन क्या है?

Stock exchange   -

http://www.clearknowledges.com/2020/06/Stock-exchange-kya-hai-ye-kaise-kary-krta-hai.html?m=1


 normally जैसे हम किसी मंडी को ले लेते है वहाँ एक सब्जी बेचने वाला रहता है और buyers सब्जी buy करने जाता है 
तो यहाँ मंडी एक ऐसा प्लेटफार्म है जो buyers और sellers को मिलाने का काम करता है 

जो एक unorganized market  है 
अब  आप  इसी के उदाहरण से stock exchange को easily समझ पाएंगे |

Stock exchange एक organized market है जो buyers और sellers को एक platform प्रदान करता है इस platform पर trader stocks को खरीद और बेच सकते  है 
शेयर का मतलब होता है हिस्सा. बाजार उस जगह को कहते हैं जहां आप खरीद-बिक्री कर सकें.

  • अगर शाब्दिक अर्थ में कहें तो शेयर बाजार (Stock Market) किसी सूचीबद्ध कंपनी में हिस्सेदारी खरीदने-बेचने की जगह है. भारत में बोम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) नाम के दो प्रमुख शेयर बाजार हैं.

BSE या NSE में ही किसी लिस्टेड कंपनी के शेयर ब्रोकर के माध्यम से खरीदे और बेचे जाते हैं. शेयर बाजार (Stock Market) में हालांकि बांड, म्युचुअल फंड और डेरिवेटिव का भी व्यापार होता है.
Stock exchange एक secondary market  है  |


Secondary market क्या है? 
http://www.clearknowledges.com/2020/06/Stock-exchange-kya-hai-ye-kaise-kary-krta-hai.html?m=1


साधारण भाषा में समझे तो जैसे हम किसी शेयर को buy करते है तो stock exchange के पास जाते है क्युकी वह एक platform है जहा हम शेयर का trade करते है 


इस मार्केट में किसी लिस्टेड कंपनी के शेयरों की खरीद-बिक्री होती है. इस बाजार में किसी व्यक्ति के पास मौजूद शेयर बाजार भाव पर कोई दूसरा व्यक्ति रियल टाइम में खरीदता है. आमतौर पर यह खरीद-बिक्री किसी ब्रोकर के जरिये होती है. सेकेंडरी शेयर मार्केट के जरिये ही किसी निवेशक को यह सुविधा मिल पाती है कि वह अपने शेयर किसी और व्यक्ति को बेचकर बाजार से बाहर निकल सकता है.

मसलन, टाटा स्टील के शेयरों का भाव अभी 230 रुपये है. कोई व्यक्ति इन शेयरों को मौजूदा बाजार भाव पर खरीदना चाहता है. उस समय कोई व्यक्ति इन शेयरों को इसी भाव पर बेचना भी चाहता होगा. ब्रोकर खरीदने वाले के लिए बाय आर्डर देकर और पैसे चुकाकर उस निवेशक के लिए इसे खरीद लेता है. इस तरह एक नया निवेशक उस कंपनी में हिस्सेदार बन जाता है.
Stock exchange पर share buy और sell दोनों किया जा सकता है इसीलिए हम इसे secondary market कहते है |

Shares को buy करने के लिए mainly 2 stock exchange है 
1.NSE
2. BSE
http://www.clearknowledges.com/2020/06/Stock-exchange-kya-hai-ye-kaise-kary-krta-hai.html?m=1


1.NSE (national stock exchange ) –

नेशनल स्टॉकएक्सचेंज  india का   सबसे बड़ा और तकनीकी रूप से अग्रणी stock exchange है  । यह मुंबई में  स्थित है। इसकी स्थापना 1992 में हुई थी। कारोबार के लिहाज से यह विश्व का तीसरा सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है। इसके वीसैट (V-SAT) टर्मिनल india के  320 शहरों तक फैले हुए हैं। एनएसई देश में एक आधुनिक और पूरी तरह से स्वचालित स्क्रीन-बेस्ड इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग सिस्टम प्रदान करने वाला पहला एक्सचेंज था। एनएसई की इंडेक्स- निफ्टी 50 है 

2.BSE (bombey stock exchange ) –


मुंबई स्टॉक एक्सचेंज भारत  और एशिया  का सबसे पुराना stock exchange है  । इसकी स्थापना 1875 में हुई थी। इस एक्सचेंज की पहुंच 417 शहरों तक है। मुंबई स्टॉक एक्सचेंज भारतीय share market में  दो प्रमुख स्टॉक एक्सचेंजों में से एक है | भारत को अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय बाजार में अपना श्रेष्ठ स्थान दिलाने में बीएसई की अहम भूमिका है 
BSE का index सेंसेक्स है 

शेयर खरीदने का मतलब –

मान लो NSE में listed कोई company अपना 10 लाख  शेयर जारी करती है  उस company के प्रस्ताव के अनुसार आप अपना शेयर खरीद लेते हो तो company के उतना मालिकाना हक आपको प्राप्त हो जाता है 
आप उस शेयर को ज़ब चाहे बेच सकते हो |

Stock exchange के गुण

स्टॉक एक्सचेंज के साथ लिस्टिंग से कंपनी की प्रतिभूतियों के लिए विशेष विशेषाधिकार प्राप्त होते हैं।  उदाहरण के लिए, केवल सूचीबद्ध कंपनी के शेयरों को स्टॉक एक्सचेंज में उद्धृत किया जाता है।

 प्रतिष्ठित स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध होना कंपनियों, निवेशकों और आम जनता के लिए फायदेमंद माना जाता है 

आप  शेयर बाजार में निवेश की शुरूआत कैसे कर सकते है?
 
आपको सबसे पहले किसी ब्रोकर की मदद से डीमैट अकाउंट खुलवाना होगा. इसके बाद आपको डीमैट अकाउंट को अपने बैंक अकाउंट से लिंक करना होगा.

बैंक अकाउंट से आप अपने डीमैट अकाउंट में फंड ट्रांसफर कीजिये और ब्रोकर की वेबसाइट से खुद लॉग इन कर या उसे आर्डर देकर किसी कंपनी के शेयर खरीद लीजिये.

इसके बाद वह शेयर आपके डीमैट अकाउंट में ट्रांसफर हो जायेंगे. आप जब चाहें उसे किसी कामकाजी दिन में ब्रोकर के माध्यम से ही बेच सकते हैं.


0 टिप्पणियाँ:

टिप्पणी पोस्ट करें

Thanks for comments